Off Page SEO In Hindi – Off Page SEO All Activity Explained

अगर आप भी एक New Blogger है और आपने अभी-अभी अपना कोई एक नया ब्लॉग यावेबसाइट स्टार्ट किया है तो ज़ाहिर है कि अभी आप की वेबसाइट पर कोई खास ट्रैफिक नहीं आ रहा होगा और अगर आप Already एक पुराने Blogger है तो आपने Off Page SEO और On Page SEO का नाम तो अवश्य ही सुना होगा | अगर आप भी Off Page SEO In Hindi के विषय में जानने के लिए इच्छुक है तो आप इस आर्टिकल में अंत तक जरुर बने रहे !

Off Page SEO In Hindi:

Off Page SEO In Hindi
Off Page SEO In Hindi

अगर आप भी Google में अपनी Website Rank करवाना चाहते है तो आप ये अवश्य जानते होंगे कि एक वेबसाइट को टॉप पोजीशन पर रैंक करवाने के लिए Website SEO कितना मायिने रखता है |अपनी वेबसाइट को अच्छा ट्रैफिक दिलाने और सर्च रिजल्ट्स में टॉप में रैंक करवाने के लिए हमे अपनी वेबसाइट के SEO को अच्छी तरह से Optimize करना होता है|

SEO क्या होता है ?

SEO का शाब्दिक अर्थ है – Search Engine Optimization. हम अपनी वेबसाइट या ब्लॉग को किसी भी सर्च इंजन में उच्च पोजीशन पर रैंक करवाने के लिए जितने भी जतन या Technics का इस्तेमाल करते है, उसे SEO कहते है| एक वेबसाइट को सर्च रिजल्ट्स में लाने के लिए जितने भी स्टेप्स को फॉलो किया जाता है, वे सभी SEO के अंतर्गत ही आते है | वैसे तो Future Of SEO में हमे कई बड़े बदलाव देखने को मिल सकते है क्यूंकि SEO से सम्बंधित कोई-ना-कोई अपडेट आती ही रहती है |

SEO के मुख्यतः दो Types होते है – On Page SEO और Off Page SEO. जिसमे से On Page SEO पर हम पहले ही विस्तार से चर्चा कर चुके है इसलिए आज हम इस कंटेंट में Off Page SEO In Hindi पर विस्तृत चर्चा करेंगे –

Off Page SEO क्या है ?

Off Page SEO का अर्थ होता है कि वो Optimization जिसे हम किसी दूसरी वेबसाइट या Servers पर जाकर करते है, उसे हम Off Page SEO कहते है | Off Page SEO की सारी Optimization हम किन्ही दूसरी Websites पर जाकर करते है जिनके रिजल्ट्स हमे अपनी वेबसाइट पर देखने को मिलते है |

SEO एक बड़ा काम है लेकिन अगर हम इसे छोटे-छोटे Steps में बाँट दे तो काम थोडा आसान हो जायेगा और इससे इसकी progress को ट्रैक करना भी आसान हो जाता है | इसलिए आज इस आर्टिकल में Off Page SEO Checklist के बारे ने जानेंगे जिससे आपको ये आईडिया लग जाए कि हमे अपनी वेबसाइट की Off Page SEO Optimization के दौरान किन मूल बातो को स्मरण रखना चाहिए |

Off Page SEO Factors:

1. Backlink Analysis

Backlink कैसे बनाये , इसके बारे मे ना जाने कितने लोग सर्च करते रहते है | Backlinks, Off Page SEO का एक बहुत बड़ा पार्ट होती है | आपको Backlink Analysis में निम्नलिखित इनफार्मेशन पर ध्यान देना है –

A. सबसे पहले ये अवश्य चेक करे कि आपको टोटल कितनी Backlinks प्राप्त हो रही है |

B. इसके बाद ये चेक करे कि आपको कुल कितने Domains से Backlinks मिल रही है यानि कि Total Referring Domain कितने है |

C. इसके पश्चात ये सुनिश्चित करे कि आपको अपने किन Pages में सबसे ज्यादा Backlinks मिल रही है |

D. अंत में आप अपनी Backlinks के Anchor Text को भी अवश्य चेक करे |

ये Backlink Analysis अर्थात Backlinks की जाँच आप Ahref और Semrush जैसे Paid टूल्स पर भी कर सकते है और इसे अप गूगल के फ्री टूल Google Search Console की सहायता से भी कर सकते है |

जैसा कि आप सब जानते है कि ये सभी Paid टूल्स हमे ज्यादा Options प्रदान करते है | लेकिन कई बार इन Paid टूल्स के पास Accurate डाटा नहीं होता है इनके मुकाबले Google Search Console के पास एक दम Accurate डाटा होता है क्यूंकि उसके पास अपने सर्च इंजन का डाटा होता है लेकिन इसके पास इन्हे दिखाने के लिए कोई फैंसी डिज़ाइन नहीं होते है। इसके आलावा आप Google Search Console के अंदर Rejex को यूज़ करके Backlinks को और अच्छे तरिके से Analysis कर सकते है। 

लेकिन अगर आप एक नयी वेबसाइट के लिए SEO कर रहे है तो आप इस स्टेप को Miss कर सकते है लेकिन आप एक पुरानी वेबसाइट के लिए Off Page SEO करने जा रहे है तो आपको अपनी वेबसाइट के लिए Quality Backlink  बनाने पर अपना ध्यान जरूर केंद्रित करना चाहिए। 

2. Competitor Backlink Analysis 

Off Page SEO के अंदर ये दूसरी सबसे जरुरी चीज है कि आप अपने Competitor की Backlinks को भी Analysis करे। Off Page SEO In Hindi में जानना उतना ही महत्वपूर्ण है जितना On Page SEO के बारे में जानना। 

Off Page SEO In Hindi
Off Page SEO In Hindi

आपको ये देखना है कि आपका प्रतिनिधि किस तकनीक से काम कर रहा है या वो किस तरह से अपनी Backlinks बना रहा है, आपको सिर्फ अपने Competitor को पराजित करना है या उसे पीछे छोड़ना है। अब ये सब चक करने के लिए आप Google Search Console का यूज़ नहीं कर सकते है क्यूंकि ये सिर्फ आपको आपका ही डाटा दिखाता है, किसी और की वेबसाइट का डाटा नहीं दिखाता है। 

ऐसे में Ahref आपको एक ऐसा टूल प्रोवाइड करता है जिसकी सहायता से आप किसी भी वेबसाइट की Backlinks को आसानी से चेक कर सकते है। इस टूल की मदद से आप अपने किसी भी प्रतिनिधि की वेबसाइट की टॉप Do Follow और No Follow Backlinks को Analysis कर सकते है और उन Websites पर अपनी वेबसाइट के लिए Backlinks बनाकर उसे भी Quality Backlinks के जरिये रैंक करवा सकते है। 

सभी टॉप Bloggers अपनी एक नयी वेबसाइट को इन्ही तरीको से एक अच्छी रैंकिंग प्रदान करते है और Google इसे अथॉरिटी भी देता है इसे आप बेझिझक अपनी वेबसाइट के लिए इस्तेमाल कर सकते हो। 

3. Link Building Campaign 

 ये स्टेप भी links के संदर्भ में ही है। Off Page SEO Activity में Links का जी अहम मुद्दा होता है। एक बार जब आप अपनी और अपने Competitors की Backlinks को Analysis कर लेते हो तो इससे अगला स्टेप हमारा link Building का आता है। हम अपनी वेबसाइट के लिए अनेक तरीको से link क्रिएट कर सकते है।अपनी वेबसाइट की link Building के लिए आपके, आपकी वेबसाइट की Niche से मिलती-जुलती Websites के Owners के साथ अच्छे relations होना बेहद जरुरी है। आप अपनी वेबसाइट के लिए Quality Backlinks तभी हासिल कर पिएंगे, जब आपके दूसरी websites के साथ अच्छे सम्बन्ध होंगे। 

आप अपनी वेबसाइट के लिए इन तरीको से Backlink बना सकते है – 

  • Directory Submission 
  • Social Profiles 
  • QNA Sites 
  • Forum And Community
  • Genuine Blog Comments 
  • Job Portals 
  • Link Buying
  • Guest Blogging 
  • Mention Links 
  • Broken Links 
  • Link Exchange 
  • Testimonials 
  • Killer Content 
  • Sponsoring

अपनी वेबसाइट के लिए इन सभी Points को ध्यान में रखकर Link Campaign बनाये लेकिन एक बात का अवशय ध्यान रखे कि एक Limit से ज़्यादा कुछ भी हानिकारक हो सकता है। 

4. Find The Gap

इस स्टेप में हम अपने और अपने Competitor के कंटेंट, दोनों को Analysis करके देखते है कि-

A. ऐसे कौन से Keywords है जिनके उपर आपके Competitor तो रैंक कर रहे है लेकिन आप उन Keywords पर रैंक नहीं कर रहे है |

B. ऐसे कौन से Keywords है जिन पर आपके Competitor सर्च इंजन के First Page पर रैंक कर रहे है और आप उन्ही Keywords पर 3th या 4th पेज पर रैंक कर रहे है |

कुल मिलाकर Off Page SEO In Hindi के अंतर्गत आने वाले स्टेप Find the Gap में आप अपने और अपने Competitor के बिच बने फासले को देखते है और इसमें हो रही कमियों के उपर अपना ध्यान केन्द्रित करते है |

अगर एक बार आपको वे Keywords मिल गए जिन पर आपके Competitor रैंक कर रहे है तो आप उन Keywords का Natural तरीके से अपने कंटेंट में प्रयोग करके एक यूनिक आर्टिकल बना सकते है | इस प्रकार के Keywords ढूंढने में आपकी Ahref और Semrush जैसे टूल्स मदद कर सकते है | जितना हो सके आप इस Gap को कम करने का प्रयास करे और जितना ज्यादा सुधर आप अपने Keywords में करेंगे उतने ही अच्छे रिजल्ट्स आपको देखने को मिलेंगे|

5. Outreach

अपनी वेबसाइट पर कंटेंट लिखना एक और बात है और अपने लिखे गये कंटेंट को प्रमोट करना एक अलग बात है | Content Outreach के बिना आपका एक ज़बरदस्त तरीके से लिखा गया कंटेंट भी आपकी सहायता नहीं कर सकता है |

अपने कंटेंट की Outreach को बढ़ाने के लिए आप निम्नलिखित Channels का प्रयोग कर सकते है –

  • Social Media
  • Guest Blogging
  • Influencer Outreach

Social Media एक फ्री मेथड है अपने कंटेंट की Outreach को Increase करने के लिए | आप Twitter, Facebook, Instagram और Linked In जैसे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स को अपने कंटेंट को प्रमोट करने के लिए यूज़ कर सकते है |

इन सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर आप सिर्फ अपने कंटेंट के एक लिंक को पेस्ट करके अपनी ऑडियंस नहीं बना सकते है | इसके लिए आप अपनी वेबसाइट की Industry से रिलेटेड लोगो को फॉलो कीजिये, उनसे बात-चित कीजिये | हो सकता है शुरू में शायद वो आपसे Interact ना करे लेकिन बाकि Followers जरुर करेंगे |

आप अपनी खुद की ऑडियंस Build करने की कोशिश करे, चाहे वो थोड़ी ही क्यों ना हो | अपनी खुद की अलग ऑडियंस Build करने पर अपना फोकस करे ताकि वे आपके कंटेंट को पढ़ने के बाद जरुरतमंद लोगो के साथ उसे शेयर कर सके |

Guest Blogging ऐसी ही प्रक्रिया है जो काफी हद तक आपके, दूसरी Websites के Owner के साथ Personal Contacts पर निर्भर करती है | Guest Blogging के द्वारा आपकी वेबसाइट को मिलने वाली Backlink को Google बहुत ज्यादा Authority देता है | शुरूआती दिनों में अपनी वेबसाइट पर Legal तरीके से Quality ट्रैफिक लाने के लिए Guest Blogging एकमात्र सहारा है |

Buzzsumo जैसे टूल्स आपको बता सकते है कि किस टाइप के Blogs और Influencer आपकी वेबसाइट के लिए ठीक रहेंगे | इसलिए आप इस टूल को भी यूज़ कर सकते है |

6. Local SEO

Local SEO के अंतर्गत आने वाले तत्वों को अभी तक बहुत सारे Bloggers कवर नहीं करते है | ऐसा ना करके वे सभी अपने ट्रैफिक का एक बहुत बड़ा हिस्सा Miss कर रहे है | Local SEO में रैंक करना आसान होता है क्यूंकि अधिकतर Bloggers इसे ठीक से इस्तेमाल नहीं कर रहे है और अगर आप ठीक तरीके से इस पर अपना फोकस करेंगे तो आप आसानी से अपने ब्लॉग को रैंक करवा सकते है |

Off Page SEO In Hindi
Off Page SEO In Hindi

Local SEO के अन्दर ऐसे बहुत सारे स्टेप्स आते है जो Off Page SEO Factors होते है | Local SEO के जरिये आप अपने क्षेत्र विशिष्ट Pages को भी बूस्ट कर सकते है | Local SEO की खास बात ये है कि या तो बहुत कम लोग इसे यूज़ कर रहे है या फिर बहुत गलत तरीके से इसके साथ दुर्व्यवहार कर रहे है | ऐसे में अगर आप इसके अन्दर अपना 50 % भी लगायेंगे तो आपको अच्छे रिजल्ट्स मिलेंगे |

आप अपनी वेबसाइट का Local SEO अच्छे से ऑप्टिमाइज़ करके उसे किसी विशिष्ट Keywords पर किसी विशिष्ट जगह पर टॉप पोजीशन पर रैंक करवा सकते है | आप अपनी वेबसाइट में Off Page SEO Activity के साथ-साथ इस पर भी ध्यान दे |

7. Video Marketing

Video फॉर्मेट में दी गयी जानकारी Content फॉर्मेट से ज्यादा पोपुलर होती है | इसका कारण साफ है कि लोगो को पढना कम पसंद है और विडियो देखना ज्यादा पसंद है | इस बात का अंदाज़ा आप खुद लगा सकते है कि लोग किस फॉर्मेट में जानकारी लेना ज्यादा पसंद करते है |

सबसे अच्छे बात ये है कि आपको विडियो बनाने के लिए किसी अलग कंटेंट की आवश्यकता नहीं है बल्कि जो इनफार्मेशन आपने अपने कंटेंट में शेयर की है आप उसी जानकारी को विडियो के माध्यम से लोगो के साथ शेयर कीजिये, इससे आपका वो कंटेंट यूनिक ही रहेगा लेकिन आपको अपने कंटेंट की मार्केटिंग करने का एक और दमदार स्टेप जरुर मिल जायेगा |

आप अपनी इन Videos को You Tube, Facebook और Linked In जैसे प्लेटफॉर्म्स पर अपलोड कर सकते है जहाँ से आपको और भी ज्यादा Impressions आयेंगे | मौजूदा कंटेंट Off Page SEO In Hindi का सबसे उपयोगी बिंदु, अपने कंटेंट की मार्केटिंग करना ही है और जिसे आप Videos की सहायता से, बड़े अच्छे तरीके से कर सकते है |

8. Graphic Marketing

Info Graphic, Graphics और Memes आजकल हर फील्ड में काफी ज्यादा पोपुलर है | लगभग हर सोशल मीडिया Platforms, Groups और Channels में आपको इंडस्ट्री से सम्बंधित Memes जरुर देखने को मिलेंगे |

Off Page SEO In Hindi
Off Page SEO In Hindi

Memes किसी टॉपिक से मिलती-जुलती बात को Funny तरीके से कहने का एक माध्यम है | Infographic किसी डाटा को आसानी से समझने और उसे याद रखने का एक माध्यम है और इस तरह का कंटेंट काफी तेज़ी से शेयर होता है | लोग किसी आर्टिकल या विडियो को चाहे एक बार ना भी शेयर करे लेकिन वे Memes को जरुर शेयर करेंगे जिससे आपकी साईट का नाम और ब्रांड दोनों प्रमोट होते है |

इसलिए अगर आपको थोड़ी बहुत Graphic डिजाईन आती है या आपकी नॉलेज में कोई ऐसा बन्दा है जो इस काम को अच्छे ढंग से कर सकता हो तो आप इसे एक बार जरुर चेक करे और अगर आपको इसमें कोई दिलचस्पी नहीं है या आपको लगता है कि आपकी इंडस्ट्री के लिए ये सब व्यर्थ है तो आप इसे भूल सकते है |

9. Paid Ads

अंत में जब Off Page SEO Checklist के सारे प्रयास पुरे हो जाए तो आप अपनी Ads चला सकते है, अब वो Ads चाहे Google, Intagram या Facebook किसी पर भी हो | आप अलग-अलग प्लेटफॉर्म्स के जरिये अपनी Paid Ads को चला सकते है और अपने कंटेंट को नये-नये लोगो तक पहुंचा सकते है जिससे आपका कंटेंट और आपका ब्रांड दोनों प्रमोट होंगे |

Brand और Content का प्रमोशन दोनों अलग-अलग चीजे है और दोनों की Strategy भी अलग-अलग होती है | अपने कंटेंट को प्रमोट करने से पहले ये अवश्य सुनिश्चित कर ले कि आपका कंटेंट यूजर की Quarry को संतुष्ट करती हो, आपका कंटेंट Boring ना हो और ना ही आपका कंटेंट जरुरत से ज्यादा लम्बा हो |

ये एक Paid Activity जरुर होती है लकिन ये एक प्रभावशाली Strategy होती है और इसका परिणाम भी आपको तुरंत मिलता है | अगर आपके कंटेंट में दम है तो निसंदेह आपको परिणाम भी अच्छे ही मिलेंगे |

अगर आप Beginner है तो हम आपको Off Page SEO In Hindi के इस स्टेप Paid Ads को कभी भी Recommend करेंगे क्यूंकि हम ये भली-भांति जानते है कि एक शुरूआती Blogger के पास इतना पैसा नहीं होता है कि वो अपने ब्लॉग के लिए Paid Ads चला सके क्यूंकि उसे और भी कई चीजो में अपना पैसा लगाना पड़ता है जैसे एक Best Reliable Hosting और Domain Name.

और अगर किसी के पास इसके लिए पैसा हो भी तो भी वो इसमें अपने पैसे नहीं लगाना चाहेगा क्यूंकि वो एक Beginner है और उसके लिए ये सब नया है और इसमें पैसा डालना उसके लिए किसी रिस्क से कम नहीं होगा | ऐसे में आप उपर बताये गए बाकि के स्टेप्स को फॉलो करके भी अविश्वसनीय रिजल्ट्स प्राप्त कर सकते है लेकिन अगर आपके पास Paid Ads के लिए पैसे है और आपको इसकी नॉलेज भी है तो आप इसका प्रयोग कर सकते है |

निष्कर्ष:

किसी भी वेबसाइट या ब्लॉग को सर्च इंजन में टॉप Positions पर रैंक करवाने के लिए उसका On Page SEO और Off Page SEO अच्छे से ऑप्टिमाइज़ होना अति-आवश्यक है | इस आर्टिकल में हमने Off Page SEO Activity के विषय में बात की है |

Off Page SEO एक अच्छे से ऑप्टिमाइज़ किये कंटेंट को रैंक करवाने में सहायक होता है | अगर आपके, आपकी वेबसाइट की इंडस्ट्री से मिलती-जुलती Websites के साथ अच्छे सम्बन्ध है तो इससे आपके Off Page SEO और आपके कंटेंट दोनों को बूस्ट मिलती है | किसी भी प्रकार का SEO तब तक आपका साथ नहीं देगा जब तक आपके कंटेंट का मकसद यूजर की Quarry को दूर करना नहीं है !

अपने कंटेंट को हमेशा User-Friendly रखिये और उसमे किसी भी ऐसे वाक्यों का प्रयोग ना करे जो आपके यूजर के मन में आपके प्रति द्वेष उत्पन्न करते हो| Google की नज़र में अपनी वेबसाइट की अथॉरिटी Build करे | अनेको ऐसी Websites है जो बिना किसी SEO के भी अच्छा रैंक करती है इसका कारण यही है कि वे हनेशा Legit Content का साँझा करते है |

अगर आपको ये इनफार्मेशन Helpful और profitable लगे तो इसे जरुरतमंद लोगो के साथ Share जरुर कीजिएगा और सगर आपका इसके आपका इसके बारे मे कोई सवाल या सुझाव है तो उसे Comment सेक्शन के माध्यम से हमसे साँझा करने में जरा भी संकोच ना करे!


FAQ :

  1. Off Page SEO के क्या फायदे है ?

    जब हम अपना एक यूनिक कंटेंट लिख लेते है और उसका On Page SEO भी ठीक तरीके से Optimize कर लेते है तब सिर्फ Off Page SEO ही एकमात्र ऐसा चारा होता है जिसकी मदद से हम अपने कंटेंट को तेज़ी से नए-नए लोगो तक पहुंचा सके | Off Page SEO की मदद से हम अपने कंटेंट को जल्दी से रैंक करवा सकते है |

  2. Off Page SEO और On Page SEO में क्या अंतर होता है ?

    SEO को हम दो Types में विभाजित करते है – On Page SEO और Off Page SEO.
    हम अपने कंटेंट या वेबसाइट के अन्दर जितना भी SEO करते है उसे हम On Page SEO कहते है | अपने कंटेंट को User-Friendly बनाने के लिए हम उसमे जो भी Activities करते है, वे सब On Page SEO के अंतर्गत ही आती है |
    हम अपनी वेबसाइट के लिए जो भी SEO किसी दूसरी वेबसाइट पर जाकर करते है, उसे हम Off Page SEO कहते है | हम अपनी वेबसाइट या कंटेंट को रैंक करवाने के लिए जो भी Activities हम दूसरी Websites पर करते है, वे सभी Off Page SEO के अंतर्गत आती है |

Categories SEO

नमस्कार दोस्तों, मैं Mahakal-Blog का फाउंडर हु | ब्लॉग्गिंग करना मेरा प्रोफेशन है और मेरी रूचि, नई-नई चीजो के बारे में जानकारी अर्जित करना और उसे ब्लॉग्गिंग के मध्यम से लोगो के साथ शेयर करने में है | इस ब्लॉग को बनाने के पीछे हमारा मकसद यह है कि हम आपको ब्लॉग्गिंग और डिजिटल मार्केटिंग से सम्बंधित महत्वपूर्ण जानकारी एकदम सरल भाषा हिंदी में उपलब्ध करवा सके !

Share For Support:

Leave a Comment