High Quality Backlink Kaise Banaye? Backlink Full Tutorial For Beginner to Advance

सभी New Bloggers ये जानने के इच्छुक रहते है कि High Quality Backlink Kaise Banaye? Backlinks से जुड़े हुए सवालो की कोई कमी नहीं है और देखा जाये तो इनके जवाबो की भी कोई कमी नहीं है. क्यूंकि अगर आप इंटरनेट पर Backlinks से सम्बंधित कोई भी Quarry या सवाल सर्च करते हो तो आपको ना जाने कितने ऐसे Search Results दिख जायेंगे जो ये दावा करते होंगे कि हमसे बेहतर आपको कोई नहीं बता सकता! आप You Tube पर जाइये और सर्च करिए – Backlinks कैसे बनाये? Search Results में आई हुई टॉप 5 Videos को देखिये और उन्हें फॉलो कीजिये और अपने SEO करियर कोs Bye-bye बोल दीजिये. 

“Do Follow Backlinks, Guaranteed Backlinks, Secret Backlinks, 10 Minute Backlinks, High DA Backlinks” ये सारे शब्द ऐसे Videos की निशानी है जो गारंटी से आपके SEO करियर का उन्ही 10 मिनट में सत्यानाश कर सकती है. वे गारंटी चाहे ना दे लेकिन मैं आपको इस चीज की गारंटी दे सकता हु. मैं गारंटी इसलिए दे रहा हु क्यूंकि आज 2022-23 में ये सारी धारणाए या तो पुरानी है या कभी सही थी ही नहीं.

एक चीज और है, जिस पर लोग ध्यान नहीं देते है और वो ये है कि आखिर Google Backlinks को अथॉरिटी क्यों देता है, Backlinks बनाते ही हमारी साईट के आर्टिकल्स क्यों रैंक करना स्टार्ट कर देते है, हमारी साईट क्यों रैंक करना स्टार्ट कर देती है और Backlinks से हमारी साईट पर ट्रैफिक क्यों आता है? इस आर्टिकल में हम ऐसे ही Mysterious (रहस्यमयी) सवालों पर चर्चा करेंगे और आपको बताएंगे कि आपके लिए Backlinks बनाने का कौन सा तरीका सबसे बेस्ट है और क्यों? 

High Quality Backlink Kaise Banaye? What is Backlink in Hindi?

आज इस आर्टिकल में हम Backlinks के उपर एक दम बेसिक से चर्चा करेंगे. इसलिए अगर आप एक नये SEO है तो आपके लिए बेहद जरुरी है और अगर आप Experienced है तो भी इसे जरुर पढिये और ये सुनिश्चित करे कि कहीं आप भी अभी तक पुराने आचरण को तो नहीं अपना रहे है –  

सबसे पहले कुछ आसान शब्दों में ये जान लेते है कि Backlink क्या होता है? 

What is Backlink in Hindi: 

Backlink को अगर हम सिंपल भाषा में समझने का प्रयास करे तो वो ये है – जब कोई यूजर किसी दूसरी वेबसाइट से किसी लिंक पर क्लिक करके आपकी वेबसाइट तक पहुँचता है या आपके किसी पेज पर Land करता है तो उसे हम Backlink कहते है.

इसे आप ऐसे भी देख सकते है – जब किसी दूसरी वेबसाइट के किसी पेज पर आपकी वेबसाईट या आपके किसी आर्टिकल का लिंक होता है तो उसे हम आपकी वेबसाइट का एक Backlink कहेंगे. अब वो साईट कोई भी हो सकती है, जैसे अगर आपकी साईट का लिंक YouTube पर है तो वो आपका You Tube से Backlink हो गया, Facebook पर है तो Facebook से Backlink हो गया है और बहुत सारी websites Forms टाइप की होती है जैसे Medium.Com तो इन पर ऐड किया हुआ लिंक भी आपके लिए एक बैकलिंक ही है.  

अगर आपको अपनी साइट को Grow करना है तो उस पर Continue ट्रैफिक आना चाहिए, और अपनी साइट पर Traffic को Increase करने के लिए ही Backlinks का इस्तेमाल किया जाता है. यहाँ पर मैंने आपको Backlink के बारे में एक दम सरल भाषा में बताया है. आशा है आप बैकलिंक की परिभाषा को समझ गए होंगे.

Backlinks का इस्तेमाल क्यों किया जाता है?

लोगो के द्वारा Backlinks को Use करने का मुख्य कारण होता है, वो है वेबसाइट का Traffic Increase करना। जब कोई SEO’s किसी दूसरी वेबसाइट पर कोई बैकलिंक बनाता है तो वो इसीलिए बनाता है कि उस वेबसाइट के Visitors हमारी वेबसाइट पर भी आये।  

Backlinks का मकसद या असल कार्य, किसी Rankable वेबसाइट को एक लिंक द्वारा उसकी योग्यता और गुणवत्ता के आधार पर Visitors और रैंक दिलाना था लेकिन कुछ लोग इसका गलत फायदा उठा रहे है। वे Backlinks की मदद से घटिया websites को रैंक करवाना चाहते है लेकिन अब गूगल अपनी AI Technology से ऐसी websites को Penalize कर रहा है।  

अगर आपने किसी साइट पर अपना कोई बैकलिंक डाला है और वहां से आपकी साइट पर 1 बंदा, 2 बंदे या फिर 100 बंदे Daily का उस बैकलिंक से आपकी साइट पर ट्रैफिक आ रहे है तो मतलब ये हुआ की वो बैकलिंक आपके काम का है और उसने अपना काम किया है और अगर वही पर, आपके द्वारा डाले गए बैकलिंक से आपकी साइट पर कोई ट्रैफिक नहीं आ रहा है, तो मतलब साफ है कि वो बैकलिंक आपके किसी भी काम का नहीं है, वो बैकलिंक वहां पर ऐसे ही पड़ा हुआ रह जाता हैं ।

Successful Backlink Cycle: 

‘High Quality Backlink Kaise Banaye’ इसके बारे में जानने से पहले आपके लिए यह जानना आवश्यक है कि Successful Backlink का चक्र आखिर किस तरह काम करता है और कैसे आप भी इसे अपने लेवल पर Implement कर सकते है. तभी आप एक Successful Blogger बन सकते हो.

मान लो आपने अपना एक बैकलिंक किसी साइट पर या कही पर भी बनाया है, और उस पर ट्रैफिक भी अच्छा खासा आ रहा है. तो उससे आपकी साइट की Authority भी Better होती है क्यूंकि Google की अल्गोरिथम को लगता है कि इस साइट पर ट्रैफिक लगातार आ रहा है तो इसका सीधा Effect आपकी साइट की Authority पर पड़ता है और जब आपकी साइट की Authority बेटर होती है तो आपकी साइट पर Search Engine से और ज़्यादा Organic Traffic आने लग जाता है जिससे आपकी साइट पर Shares भी ज़्यादा मिलते है और जो बंदा आपकी साइट को शेयर करता है, वहां से भी आपकी साइट पर ट्रैफिक आने लग जाता.

फिर वो भी आगे Share करते है, और ज़्यादा ट्रैफिक और मतलब ये पूरा एक चक्र बन जाता है, जिससे आपकी साइट चल पड़ती है और आपकी साइट ऊपर रैंक करने लग जाती है. जिससे आपकी Earning भी ज़्यादा होती है. 

Increase Blog or Website Traffic using Backlinks

Backlinks के सहारे जो Websites Grow करती है वे सभी साइट्स इसी Way में काम करती है. यहाँ पर एक चीज और मायने रखती है कि आपका On Page SEO कितना ज्यादा Well Optimized है. अगर आप यूजर को अच्छा Experience नहीं दे पा रहे हो तो यहाँ पर जो ये Sharing वाला सिस्टम है ये यहाँ से हट जाता है. User आपकी साइट से Dis-satisfied होकर किसी दूसरी साइट पर चला जाता है इसलिए आपको यूजर के लिए कंटेंट लिखना है. अगर आपका On Page SEO एक Better Way में है, तो आपकी साइट के रैंकिंग के Chance बढ़ जाते है.

SEO Link Juice:

अगर आपकी साईट का लिंक किसी हाई अथॉरिटी वाली वेबसाइट पर है तो इससे Google को ये लगेगा की ये एक बढ़िया और क्वालिटी वेबसाइट है और  इस पर जरुर Better Content मौजूद है तभी तो इतनी हाई अथॉरिटी वाली वेबसाइट ने इसे लिंक किया हुआ है. अब जब भी कोई Visitor उस लिंक  के सहारे आपकी वेबसाइट पर आएगा तो आपकी वेबसाइट को उस बड़ी वेबसाइट की Authority का कुछ हिस्सा मिलता है, जिसे हम Link Juice कहते है. इससे आपकी वेबसाइट को अत्यधिक फायदा होता है साथ ही आपकी वेबसाइट की Authority भी Increase होती है.

Types of Backlink:

Link Building, SEO का एक ऐसा टॉपिक है जिसके बारे में इन्टरनेट पर पहले से ही तमाम जानकारी मौजूद है इसलिए हम इस टॉपिक पर चर्चा नहीं करना चाहते है| Link Building का नाम सुनते ही Users की मन में एक सवाल जरुर आता है की Link कहाँ बनाने चाहिए? वास्तव में, Links और Backlinks दोनों SEO का एक ऐसा फील्ड है जो नये Seo’s को काफी रहस्यमय लगता है | हर कोई आपको यही तो कहता है, कि इस हाथ Links लो और उस हाथ रैंक ले लो और ये काफी हद तक ठीक भी है लेकिन समस्या ये है कि सभी Backlinks एक जैसी नहीं होती है | Backlinks को हम सामान्यत: दो भागो में विभाजित कर सकते है– 

  • Do Follow Backlink
  • No Follow Backlink

इसी के साथ इन्हें दुसरे नामो से भी जाना जाता है, जो इस प्रकार है –

  • Natural Links
  • Unnatural Links

अब हम इनके बारे में थोडा विस्तार से जानने का प्रयास करते है.

Do Follow Backlink / Natural Links:

जिन Backlinks को आप किसी साईट के Link Juice के साथ Natural तरीके से Create करते हो, उन्हें हम Do Follow Backlinks कहते है. Google भी Do Follow Backlinks को ही Priority देता है और Priority देनी भी चाहिए क्यूंकि Do Follow Backlinks किसी वेबसाइट पर उसकी Permission से एक सुव्यवस्थित ढंग से बनाये जाते है.

आप जिस भी वेबसाइट से Do Follow Backlink क्रिएट करते हो, आपको उस वेबसाइट का Link Juice भी pass किया जाता है, जिससे उस वेबसाइट की कुछ Authority आपको भी मिल जाती है. अब इन Backlinks को दूसरी Websites स्वयं आपको प्रदान करती है इसीलिए इन्हें Natural Links भी कहा जाता है. इसलिए आपको हमेशा अपनी वेबसाइट के लिए Do Follow Backlink ही बनाने चाहिए. ये प्रोसेस मुश्किल जरुर है लेकिन आपको results भी यही लाकर देगा.

No Follow Backlink / Unnatural Links:

जिन Backlinks को आप Unnaturally तरीके से अपनी वेबसाइट के लिए दूसरी Websites पर जाकर बनाते है उन्हें No Follow Backlinks कहते है. अब चूँकि ये Unnaturally तरीके से बिल्ड की जाती है इसलिए इन Backlinks से आपकी वेबसाइट को दूसरी वेबसाइट का Link Juice भी नहीं मिलता है.

No Follow Backlinks को कोई भी Create कर सकता है. इसके लिए उन्हें उस वेबसाइट के Owner से Permission लेने की आवश्यकता नहीं होती है और यही कारण है कि Google इन No Follow Backlinks को कोई अहमियत नहीं देता है. Unnatural या No Follow Backlinks बनाने से आपके टाइम की खपत के अलावा आपको और कोई फायदा नहीं होता है.

No Follow Backlinks में आपको टैग के अन्दर “rel=nofollow” Attribute देखने को मिल जाता है. लिंक के अंदर ये Attribute ऐड करने से यूजर ( जिसकी वेबसाइट पर Backlink डाला गया है ) गूगल को बता रहा है कि उसे नहीं पता है कि जिस वेबसाइट का ये लिंक है उस वेबसाइट की क्वालिटी कैसी है इसलिए गूगल देवता आप इसे मेरे पेज के साथ क्रॉल ना करे.

अब ऐसे में ये तो निश्चित नहीं है कि लिंक के अंदर “rel=nofollow” Attribute लगाने से गूगल देवता उस लिंक या पेज को क्रॉल नहीं करेगा. आप इस Attribute का इस्तेमाल करके गूगल को सिर्फ अपनी ओर से बता रहे है कि इस पेज को आप क्रॉल ना करे लेकिन इसके बाद भी Google Bot अपनी Secret Algorithm के तहत इस पेज को क्रॉल कर सकता है क्यूंकि Experts के अनुसार ये पाया गया है कि गूगल किसी पेज पर मौजूद सभी Links को क्रॉल करता है लेकिन इसे ऐड करने से आपकी वेबसाइट का Link Juice उस वेबसाइट को Pass नहीं किया जायेगा.

Special Tip for No Follow Backlinks

अगर आपकी वेबसाइट एक दम नयी है और आप अपनी को एक शुरूआती Kick दिलाना चाहते हो तो आप कुछ Trusted Forum websites पर जाकर अपने लिए कुछ No Follow Backlinks बना सकते हो या कुछ Profile Backlinks बना सकते हो. लेकिन ध्यान रहे, आपने इन Backlinks को बहुत ही कम मात्रा में बनाना है क्यूंकि इस प्रकार की Backlinks ज्यादा संख्या में बनाने से आपकी वेबसाइट को Penalize किया जा सकता है.

वैसे तो आपको ऐसी No Follow Backlinks से बचना चाहिए इसलिए सभी जानना चाहते है कि High Quality Backlink Kaise Banaye लेकिन मैं यहाँ आपको ये No Follow Backlinks इसलिए बनाने को बोल रहा हु क्यूंकि इन Backlinks की मदद से आप एक नयी वेबसाइट को गूगल से आगाह करवा सकते हो जिससे शायद गूगल को आपकी इस नयी वेबसाइट के बारे में जल्दी पता लग जाये. अब starting में Do Follow Backlinks तो तो आपको इतनी जल्दी मिलेंगे नहीं! इसलिए आप इनका थोडा स्वादानुसार इस्तेमाल कर सकते हो.

कुछ पोपुलर No Follow Backlinks प्रोवाइड करने वाले प्लेटफॉर्म्स जहाँ से आप कभी-कभार कुछ Backlinks बना सकते हो जो शायद आपके लिए Beneficial साबित हो जाये –

  • You Tube  
  • Facebook 
  • Twitter 
  • Instagram 
  • Pinterest 
  • Quora  

और भी बहुत सारे प्लेटफॉर्म्स है जिनसे आप No Follow Backlink बना सकते हो। आपको सिम्पली इन Platforms पर अपनी एक  Profile बना लेनी है ( लेकिन याद रहे वो प्रोफाइल आपके ब्लॉग या साइट की Niche या Topic से Related हो तो ज़्यादा Better है ) और 

यहाँ पर अपने आर्टिकल के हिसाब से यहाँ पर पोस्ट या कुछ छोटे – छोटे आर्टिकल डालने है और इनके अंदर आपको अपनी उस वेबसाइट का लिंक  शेयर कर देना है, जिसे आप Rank करवाना चाहते हो। अगर आप सच में No Follow Backlink  का Use करके अपने ब्लॉग या साइट को रैंक करवाना चाहते हो तो आप सिर्फ Instagram, YouTube और Quora से अपनी वेबसाइट को बहुत अच्छे  से Grow  कर सकते हो।

How Many Backlinks Per Day Is Safe:

एक दिन में हमे कितने Backlink बनाने चाहिए? ये एक ऐसा सवाल है जो New Bloggers के दिमाग में जरुर आता है. वे ये जानने के इच्छुक रहते है कि हम एक दिन में ऐसे कितने Backlinks बनाये जिससे हमारी वेबसाइट रैंक हो जाये और हमारे ब्लॉग को Boost मिल जाये.

अगर आप इस सवाल का जवाब किसी भी एडवांस ब्लॉगर या प्रोफेशनल ब्लॉगर से पूछोगे तो कोई भी आपको इसका सीधा जवाब नहीं दे पायेगा और देखा जाये तो इसका कोई एक प्रॉपर Answer है भी नहीं. आपको एक दिन में कितने Backlinks बनाने चाहिए?  ये कई Factors पर निर्भर करता है जैसे आपकी वेबसाइट की क्वालिटी, आपकी वेबसाइट की Category और आपके वेबसाइट पर आने ­वाला ट्रैफिक. 

एक दिन में आप चाहे 100 Backlinks बनाओ या 1000 Backlinks बनाओ. Backlinks बनाने के लिए सबसे जरुरी जो चीज है वो है – Natural Link Building.

अगर आप अपनी वेबसाइट के लिए Backlink बनाना ही चाहते हो तो आप उसके लिए Naturally Backlinks बनाओ. अगर आप एक दिन में 100 Naturally Backlinks बनाते हो तो भी आपको कोई Issue नहीं आने वाला है. वही पर अगर आप अपनी वेबसाइट पर 10 Spammy Backlink बनाते हो तो भी आपकी साईट Penalize हो सकती है .

Backlink Quality vs Quantity

यहाँ पर मैं आपको एक बात और बता देना चाहता हु जो खासकर New Bloggers सोचते या करते है कि मैं अपनी वेबसाइट के लिए जितने ज्यादा Backlinks बनाऊंगा, उतनी ही ज्यादा मेरी वेबसाइट को Boost मिलेगा. ये आप बहुत गलत सोचते है क्यूंकि आपको Backlinks की Quantity पर नहीं Quality पर ध्यान देना चाहिए, और ये रूल आपको सिर्फ Backlinks पर नहीं बल्कि पूरी Blogging की Journey अपनाना चाहिए. Quantity और Quality दोनों में दिन रात का अंतर होता है. अगर आप अपनी वेबसाइट के लिए 10 Spammy Backlinks की जगह पर 1 Quality Backlink भी बनाते हो तो आपको उन 10 Backlinks के मुकाबले में इस 1 Backlink में ज्यादा Boost मिलेगा.

Moz के Community फॉर्म में किसी ने यही Question वहां पर भी पूछा था कि मुझे अपनी वेबसाइट पर Daily के कितने Backlinks बनाने चाहिए! इस सवाल का किसी Expert ने बड़ा अच्छा जवाब दिया था, जिसे आप निचे देख सकते है.

How Many Backlinks Per Day Is Safe Moz Community forum.

Importance of Niche to Create Backlinks:

Backlinks बनाते समय हमे अपने ब्लॉग के Niche या Topic को भी ध्यान में रखना चाहिए.  मैं ऐसा इसलिए बोल रहा हु – जैसे मान लो आपकी कोई जॉब से रिलेटेड वेबसाइट है और आपने उस पर कोई पोस्ट डाली है जो अगले 4-5 दिनों तक ही Useful/Valid रहने वाली है.

Valid से तात्पर्य है कि आपने उस पोस्ट में जो भी जॉब की Vacancy डाल राखी है, वो 4 दिन बाद बंद हो जाएगी. अब आप उस पेज के लिए 4 दिन में कितने Backlinks बना लोगे और चलो मान भी लो आपने अच्छे Backlinks बना भी लिए तो Backlinks का effect आने में भी कम से कम 8-9 दिन का टाइम तो लगता ही है, तो इसका मतलब आपके वे Backlinks कोई काम नहीं आने वाले है.

इसलिए अगर आपकी कोई जॉब से रिलेटेड या कोई ऐसी वेबसाइट है जिनके लिए Backlinks कोई काम नहीं आने वाली है तो आपको उन वेबसाइट के लिए Backlinks बनाने का कोई फायदा नहीं होने वाला है.

Backlinks आपके Niche या टॉपिक पर भी निर्भर करते है कि आपको कितने और कैसे Backlinks बनाने चाहिए. आपको अगर अच्छे Results चाहिए तो आपको Natural Link Building करनी पड़ेगी.  Backlinks Create करने के लिए आप एक काम और कर सकते हो कि आप Google में अपना Main Keyword search करो और फिर वहां पर जो वेबसाइट टॉप पर रैंक कर रही है आप उनके Backlinks चेक करो कि उन्होंने कहाँ से Backlinks बनाये हुए है. ये आप Ahref Backlink Checker टूल की मदद से चेक कर सकते हो वो भी फ्री में! फिर आप भी अपने उस आर्टिकल के लिए वहां से Backlinks बनाने का प्रयास करो.

आप अपनी साईट पर 20 -25 Unique आर्टिकल डालकर फिर धीरे – धीरे Backlinks बनाना स्टार्ट करो जैसे – आज आपने 1 Backlink बनाया, अगले दिन 2-3 Backlinks और फिर आप लगातार Increase कर सकते हो ताकि Google को भी लगे कि आपके Quality Backlinks है. इसलिए आपका सवाल ये नहीं होना चाहिए कि मैं एक दिन में कितने Backlinks बनाऊ बल्कि आपका ये  Question होना चाहिए कि मैं High Quality Backlinks कैसे बनाऊ?

Some Important Terms of Backlinks:

Anchor Text

Anchor Text एक Clickable Text होता है. जब आप किसी एनी वेबसाइट पर अपना Backlink डालते हो या जब आप अपनी वेबसाइट के किसी पेज में कोई लिंक ऐड करते हो, तो लिंक Place करते वक्त आप किसी Keyword को टारगेट करते है और उस Keyword को सेलेक्ट करके आप लिंक ऐड करते हो. लिंक ऐड करते वक्त जिस Keyword को सेलेक्ट किया जाता है उसे Anchor Text कहते है.

What is Anchor text? Briefly Introduction of Anchor Text

Anchor Text अपने आप में एक अहम रोल Play करता है. किसी भी पेज में Link Place करते वक्त हमेशा ये ध्यान रखना चाहिए  कि आप जिस Keyword पर link ऐड कर रहे है वो आपके लिंक के Relevant होना चाहिए. इससे आपका Page Experience और User Experience काफी Improve होता है और Google को ऐसी Relevant Anchor Text वाली Backlinks को ही Value देता है.  यह ON Page SEO का ही एक पार्ट है.

अगर आप अपने पेज में Link के Relevant एंकर टेक्स्ट नहीं है तो आपका यूजर जिस चीज के लिए उस लिंक पर क्लिक करेगा, उसे वहां वो चीज नहीं मिलेगी और वो वहां से पेज को Close कर देगा. इससे आपका Bounce Rate काफी ज्यादा Increase हो जायेगा. जैसे अगर मान लो आपने अपने पेज में लिंक ऐड करते समय Anchor Text सेलेक्ट किया ‘Best Blog Niches’ और जब यूजर इस लिंक पर क्लिक करता है तो उसे वहां पर SEO के बारे मे बताया जा रहा है तो ऐसे में यूजर वहां से Back आ जायेगा और इस दौरान गूगल को बहुत ही खराब Signal जाता है जिससे आपकी रैंकिंग भी Drop हो सकती है.

इसी के साथ जब भी आप किसी दूसरी वेबसाइट पर अपने लिए Backlink Create करवाते हो तो ये निश्चित कर ले कि आपको एक Relevant Anchor Text के साथ Backlink दिया जायेगा.

Internal Link

Internal Links को आंतरिक लिनक्स के नाम से भी जाना जाता है. जब हम अपनी वेबसाइट के किसी पेज में अपनी ही वेबसाइट के किसी दुसरे पेज के लिंक को ऐड करते है, उसे Internal link कहा जाता है.

Internal Links का आपके SEO और On Page SEO पर काफी बड़ा Impact पड़ता है. अपनी वेबसाइट में Internal Linking करने से हमे कई फायदे होते है जैसे –

1. अपनी वेबसाइट में Internal Linking करने से हम अपने Bounce Rate को कम कर सकते है क्यूंकि जब यूजर आपके इन Internal Links पर क्लिक करता है तो वो आपकी ही वेबसाइट के किसी दुसरे पेज पर Visit करता है जिससे आपकी वेबसाइट पर वो ज्यादा समय तक रुकता है. इसलिए Internal Links से आपका Bounce Rate Maintain रहता है.

2. Internal Linking से हम अपने Pages को जल्दी से Index करवा सकते है. अगर आपने अपनी वेबसाइट पर हाल ही में कोई नया आर्टिकल Publish किया है और आप चाहते है कि ये जल्दी से जल्दी Index हो तो आप इसे अपनी वेबसाइट के किसी ऐसे पेज से Link कर दीजिये जो पहले से Google में Index हो. इससे आपके उस नये पेज के जल्दी Crawl होने के chances बढ़ जाते है और जल्दी क्रॉल होगा तो वो Index भी जल्दी होगा.

3. Internal Link की मदद से आप अपने ऐसे Pages को भी Index करवा सकते हो जो Index नहीं हो रहे है या Google Bot उन्हें Crawl ही नहीं कर रहे है.

External Link

जिन दूसरी Websites के Links को हम अपनी वेबसाइट के Pages में ऐड करते है, उन्हें External Link कहते है. External Links को बाहरी लिनक्स भी कहा जाता है.

जब आप अपनी वेबसाइट पर कोई ऐसी News या इनफार्मेशन देते है जिसकी जानकारी आपकी वेबसाइट पर नहीं है या आप किसी Tool अथवा Service के बारे में बताते है, जिसके लिए आपको किन्ही दूसरी Websites को अपनी वेबसाइट से लिंक करना पड़ता है, इसी प्रक्रिया को External Linking कहते है.

 Website की Ranking और Better On Page SEO के लिए External Linking एक विशेष भूमिका निभाता है. पेज में External Linking करने के फायदे कुछ इस प्रकार है –

1. External Linking से हम अपने यूजर को उसके टॉपिक से रिलेटेड सम्पूर्ण जानकारी दे पाते है, जिससे यूजर के दिल में हमारी वेबसाइट एक Trusted Website बन जाती है.

मान लीजिये आपने अपनी वेबसाइट पर किसी ऐसे टॉपिक पर कंटेंट लिखा जिसकी किसी Sub-Category को किसी दूसरी वेबसाइट पर अच्छे से Explain किया हुआ है, तो आप उस पेज को अपने उस आर्टिकल में Relevant Anchor Text से लिंक करके अपने विजिटर को उस टॉपिक से सम्बंधित पूरी जानकारी दे सकते हो. जिससे आपके यूजर को पूर्ण Satisfaction मिल सके.

2. जब आप अपने पेज में किसी दूसरी website को लिंक करते हो और जब कोई यूजर उस वेबसाइट के उस Keyword को Search Engine में सर्च जिस पर आपने उसे Backlink दिया हुआ है, तो Search Result में आपके पेज के आने की संभावनाए भी बढ़ जाती है.

इसलिए अपने Pages में अथॉरिटी वाली websites को लिंक करे लेकिन वही पर जहाँ पर उनकी आवश्यकता हो !

3. जब आपकी वेबसाइट रैंक करने लग जाती है और उस पर अच्छा ट्रैफिक आने लग जाता है तो तो लोग आपको अपनी वेबसाइट या किसी पेज को आपकी वेबसाइट से लिंक करवाने के पैसे भी देते है. यह रकम वेबसाइट की क्वालिटी और ट्रैफिक पर निर्भर करती है और माय के साथ यह रकम एक बड़ा रूप भी ले सकती है.

Guest Blogging/Guest Post

जिस भी Industry से रिलेटेड आपकी वेबसाइट है और उनमे से जो Websites पोपुलर है आप उनकी वेबसाइट और उनकी ऑडियंस के लिए एक आर्टिकल लिखकर एक High Quality Backlink पा सकते हो. कुछ Bloggers इसके लिए आपसे पैसे चार्ज करते है लेकिन आपको उनसे Backlink नहीं लेना है और अगर आपके पास इतना बजट है कि आप अपने वेबसाइट को रैंक करवाने के लिए एक High Quality Backlink खरीद सकते हो तो आप ऐसा जरुर कीजिये क्यूंकि यहाँ से आपको एक दम Do Follow Backlink मिलेगा और इससे आपकी वेबसाइट जरुर Boost होगी. इसी प्रक्रिया को Guest Blogging/Guest Post कहते है.

अगर आपके पास इसके लिए पैसे नहीं है तो आप अपनी Category के छोटे Bloggers को खोजे और उनके सामने यह प्रस्ताव रखे कि आप हमे एक Backlink दे दो उसके बदले में हम भी आपको एक High Quality Backlink दे देंगे. अब उसकी भी वेबसाइट ज्यादा पुरानी और बड़ी नहीं होगी, अगर आप उसे यह समझा पाए कि ऐसा करने से हम दोनों का फायदा होगा तो आपको वहां से Backlink जरुर मिलेगा और वो भी मुफ्त में!

अब इसी के साथ में एक सवाल और काफी ज्यादा पूछा जाता है कि क्या हमे Profile Backlinks बनानी चाहिए? तो आईये इस पर भी हम एक नज़र डालते है –

क्या हमे Profile Backlinks बनानी चाहिए?

क्या हमे Profile Backlinks बनानी चाहिए या Profile Backlink Kaise Banaye? इस सवाल का जवाब मैं आपको थोडा गहराई से देना चाहता हु. आप खुद सोचिये कि कुछ ऐसी Websites है जहाँ पर कोई भी अपनी एक प्रोफाइल बनाकर एक Backlink बना सकता है और आप भी वहां Backlinks बना सकते है और बाकि लोग भी अपने लिए वहां पर Backlink बना सकते है और ये बात Google को भी पता है कि यहाँ पर कोई भी Backlink बना सकता है. अब Google ऐसी Backlinks के आधार पर किसी वेबसाइट को क्यों रैंक करेगा. इसलिए ऐसी कॉमन Backlinks बनानी चाहिए या नहीं, शायद इसका जवाब आपको मिल गया होगा!

एक टाइम पर इस प्रकार की Backlinks से फायदा होता था क्यूंकि पहले Google, Backlinks की गुणवत्ता में फर्क नहीं कर पाता था | इसलिए SEO के नाम पर लोग ना जाने कितनी प्रकार Links को बेचते थे | पहले Links थोक में बेची जाती थी और खरीदी भी जाती थी, अब इस चीज के दो नुकसान होते थे– 

1. इस प्रकार की Backlinks से लोग सर्च रिजल्ट में ऐसी Websites को रैंक करवा लेते थे जिनका कंटेंट अच्छा नहीं होता था | 

2. लोग अपने Competitor को नुकसान पहुँचाने के लिए ऐसे खराब Links बनाते थे और इसी को Negative SEO कहा जाता था | 

लेकिन 2016 तक Google ने Backlinks की क्वालिटी को पहचानना और खराब Backlinks को नज़रंदाज़ करना शुरू कर दिया | अब अगर किसी वेबसाइट की खराब Quality Backlinks है तो भी Google उस पर Manual Penalty नहीं लगाता है बल्कि उन Links को सिर्फ अनदेखा कर देता है| लेकिन इसका अर्थ ये बिलकुल भी नहीं है कि इन्टरनेट पर आप इस तरह की खराब Backlinks बनाते रहे और आप Google से ये उम्मीद करे कि वो आपको कुछ नहीं कहेगा | अभी भी कुछ इस प्रकार की Backlinks है जिनसे आपको Automatic या Manual Penalty मिल सकती है, जो इस प्रकार है – 

Automatic/Manual Penalty Backlinks Example: 

  • Blog Comment Links  
  • Forum Signature Links  
  • Forum Profile Links  
  • Low-quality Directory Links  
  • PBN Links अगर ज्यादा सावधानी नहीं बरती तो.. 

दोस्तों आपने उपर बताये गई Links से सावधान रहना है और आपको ऐसी किसी भी प्रकार Backlinks नहीं बनानी है | ये आपके लिए हानिकारक साबित हो सकती है| अब आपके मन में एक सवाल जरुर उठ रहा होगा कि High Quality Backlink Kaise Banaye तो आईये जानते है कि कैसे हम अपनी वेबसाइट के लिए High Quality Backlinks बना सकते है –

High Quality Backlink Kaise Banaye:

Create Linkable Content

सिर्फ एक अच्छा कंटेंट होना काफी नहीं होता है. आप जिस भी Topic/Niche पर अपना कंटेंट लिख रहे है उस पर आप अच्छी तरह से रिसर्च जरुर करे.  आप अपना ज्यादातर टाइम रिसर्च पर लगाईये. अपने कंटेंट की लम्बाई और Keywords पर फोकस ना करे बल्कि आप अपनी भाषा में अपने कीवर्ड से सम्बंधित एक अच्छा विस्तृत कंटेंट लिखने में अपना फोकस बनाईये. जरा सोचिये अगर आपका कंटेंट दिलचस्प नहीं है, यूनिक नहीं और लिंक करने लायक नहीं है तो आप चाहे Backlink पाने के लिए कितनी भी Emails क्यों न भेज ले, आपको कोई फायदा नहीं होने वाला है. 

अगर आपके कंटेंट में दम है और आपकी वेबसाइट पर कुछ ट्रैफिक आ रहा है तो लोग आपके लिए Backlinks खुद बनाते है. उस समय आपको किसी से Backlink मांगने की आवश्यकता नहीं होती है. जब आपकी साइट Grow करने लग जाती है, तो आपको Backlinks का ज्यादा  ध्यान नहीं रखना पड़ता है क्यूंकि लोग खुद आपके लिए Backlinks का काम करते है ताकि उनकी भी आपके सहारे फायदा हो या उनकी साइट भी Grow होने लग जाये। लेकिन इसके लिए आपका कंटेंट Link करने योग्य होना चाहिए.

Focus On Content Marketing

Content Marketing, SEO में अभी भी Link Building के लिए सबसे पावरफुल रणनीति है लेकिन आपके कंटेंट में दम होना चाहिए.  

Focus On Organic Outreach

अपने कॉन्टेक्स्ट को अपन नया कंटेंट भेजिए, उसे पढ़ने और उसका रिव्यु करने की उनसे प्रार्थना कीजिये. आपके नए पेज और नए कंटेंट को सबसे पहले जो Backlinks मिलेंगी, इसी माध्यम से मिल सकती है.

Focus On Social Media

जो भी Following आपकी सोशल मीडिया पर है आप उसका सही उपयोग कीजिये. आप अपने कंटेंट को उनके साथ शेयर करे और उसके फैक्ट्स और छोटे-छोटे Mems बनाकर शेयर कीजिये, जिससे आपकी ऑडियंस उसको पढ़ सके और उसमे इंटरेस्ट ले सके. हर एक सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर शेयर का ऑप्शन जरूर होता है इसलिए आप इसका सदुपयोग करे। इससे आपको ज़्यादा Readers मिलेंगे और इसी के साथ आपको ज़्यादा Backlinks भी मिलेंगे.

Focus On Email Request

अगर आपका कटेंट अच्छा है तो आपका जो Email आउटरीच का प्रयास है उससे भी आपको Backlinks मिल सकती है. इस मेथड से आपको कितने रिजल्ट्स मिलेंगे, ये पूर्ण तरिके से आपके ऊपर निर्भर करत है. सबसे पहले तो कभी भी Email Outreach को Automated मत रखिये, Ahref और Semrush जैसे टूल आपको Automated Emails की सुविधा देते है, जिसे आपको कभी भी इस्तेमाल नहीं करना चाहिए. 

आप Personally ईमेल लिखिए और उन्हें ईमानदारी से बताये कि – ये मेरा कंटेंट है, इसमें ये पार्ट आपके Users के लिए अच्छा रहेगा. अभी जिस कंटेंट को आप लिंक कर रहे है वो पुराना है या अगर उसमे वास्तव में कोई Error है तो आप उन्हें Source Code के साथ ये बता सकते है. 

कभी भी ऐसा दिखावा मत करिये कि आपको लिंक देने से उसका कोई भला होने वाला है क्यूंकि वो कोई कल का बच्चा नहीं है. उसके पास आपकी ईमेल से पहले सैकड़ो इमेल्स पहले से आ चुकी होगी. अगर कोई फीस की मांग करता है तो उससे बचिए क्यूंकि वो लिंक्स बेच रहा है और जल्द ही उसको Google की तरफ से पेनल्टी मिल सकती है और अगर आप उससे लिंक खरीदते हो तो आपको भी पेनल्टी मिल सकती है. लेकिन अगर आप Genuine तरिके से, एक अच्छे कंटेंट के साथ कांटेक्ट करते है तो आपको बैकलिंक्स मिलने के चान्सेस ज़्यादा होते है.

Last Word:

दोस्तों ये वे कुछ Practical तरीके थे जिनका इस्तेमाल करके आप अपनी साईट के लिए High Quality Backlinks बना सकते हो और अपनी साईट को Google की Top Position पर रैंक करवा सकते हो.

उम्मीद है इस आर्टिकल में आपको Backlinks के विषय में कुछ और ज़्यादा सीखने को मिला होगा. साथ ही हमने आपको वे सारे शुद्ध स्टेप्स बताये है जिनकी मदद से आप अपनी वेबसाइट के लिए Natural Links बना सकते है. यहाँ पर सबसे ज्यादा ध्यान रखने वाली बात ये है कि आपको Spammy Backlinks से अपनी वेबसाइट को बचाए रखना है और जितना हो सके उतनी अपनी वेबसाइट की अथॉरिटी Build करनी है.

अगर यह इनफार्मेशन किसी के लिए उपयोगी साबित हो सकती है तो इसे उनके पास शेयर जरुर करे और अगर आपके इसके प्रति कोई सवाल या सुझाव है तो हमे Comment Section में बताये. आपका Feedback हमारे लिए उपयोगी है.

Hello friends, I am the founder of Mahakal-Blog. Blogging is my profession and my interest is in getting information about new things and sharing it with people through blogging. Our motive behind creating this blog is that we can provide you important information related to blogging and digital marketing in very simple language Hindi.

Share For Support: