Google vs Bing SEO, Top 7 De-indexing issues in Bing,

Microsoft Bing से रिलेटेड दो बहुत ही सामान्य मुद्दे है, पहला ये कि आपकी वेबसाइट का Deindexed हो जाना और दूसरा ये कि आपकी वेबसाइट Google में तो Indexed है लकिन Bing में नहीं है | Google और Bing दोनों अलग-अलग Search Engines है, इसलिए अगर एक सर्च इंजन में आपकी वेबसाइट indexed है तो ये बिलकुल भी जरुरी नहीं है कि दुसरे सर्च इंजन में भी आपकी वेबसाइट Indexed होगी |

आज इस आर्टिकल में हम निम्नलिखित विषयों पर चर्चा करेंगे –

1. Bing आपकी वेबसाइट को आखिर क्यों Deindexed कर देता है |

2. आप अपनी वेबसाइट को फिर से कैसे Index कर सकते है |

3. साथ ही हम देखेंगे कि कोई वेबसाइट Google में Index होते हुए Bing में Index क्यों नहीं हो पाती ?

op 7 De-indexing issues in Bing

एक सामान्य गलती जो लोग करते है वो ये कि Microsoft Bing की Google के साथ तुलना करना !  जब आप Bing की समस्याओ को सुलझाने का प्रयास करते है या उन्हें समझने का प्रयास करते है, तो आपको उस सर्च इंजन की मूल बातो को याद रखना चाहिए और उस वक्त Google की मूल बातो को भूल जाना चाहिए | जैसे – Crawling

Crawling एक सर्च इंजन का basic फंक्शन है, इसलिए Crawling का अर्थ जो Google में है, वाही Bing में भी होगा | Google और Bing दोनों अलग-अलग Search Engines है लेकिन दोनों में Indexing और Search की पहुंच काफी अलग-अलग है | Google अपने सर्च रिजल्ट्स पेज को काफी सरल और न्यूनतम रखता है वही Bing अपने सर्च रिजल्ट्स पेज को काफी चित्र और विज्ञापनों से सजाना चाहता है |

माइक्रोसॉफ्ट बिंग इस वक्त Websites को सज़ा देने में उतना ही कठोर है जितना कि एक वक्त पर Google हुआ करता था लेकिन Google अब Machine Learning(ML) के जरिये, अनुभव और डाटा के जरिये काफी सारी समस्याओ का समाधान खुद ही कर लेता है, जैसे – डुप्लीकेट कंटेंट या ख़राब बैकलिंक | इसलिए Google अब इन मुद्दों पर मैनुअल पेनल्टी नहीं लगाता है या Google वेबसाइट को Deindex नहीं करता है |

Microsoft Bing अभी भी Google सर्च इंजन के सामने छोटा है इसलिए ऐसे मुद्दे जिन्हें Google अनदेखा कर देता है, Bing उनके लिए वेबसाइट को Deindex कर देता है | इस पॉइंट को याद रखियेगा क्यूंकि यही बार-बार बिंग के Issues को समझने में आपकी मदद करेगा |

➥ चलिए, अब जानते है कि Bing में वेबसाइटें कैसे -कैसे De-index हो सकती है –

1. Hosting

असल में आपकी होस्टिंग असली समस्या नहीं होती है बल्कि ये इस समस्या का एक हिस्सा होती है | Bing का क्रोलिंग सिस्टम हद से अधिक होता है ये आपकी वेबसाइट को बार-बार क्रॉल करता रहता है और इसी व्यवहार के कारण काफी सारी होस्टिंग कंपनिया BingBot के IP Address को ब्लाक कर देती है ताकि होस्टिंग सर्वर के Resources बेकार में खराब न जाये |

अगर आपकी होस्टिंग कंपनी भी इनमे से एक है मतलब अगर आपकी होस्टिंग कंपनी ने भी BingBot के IP Address को ब्लाक किया हुआ है तो आपको इसे कैसे ठीक करना है –

A . सबसे पहले आपको यहाँ technicalseo क्लिक करना है |

B. क्लिक करने के बाद आप निचे दिखाए गए पेज पर पहुँच जायेंगे | आपको इसमें अपनी वेबसाइट को लिंक(URL) और ० User Agent में आपको Bingbot को सेलेक्ट करना है और इसके बाद निचे Fetch के बटन पर क्लिक करना है |

Check Bingbot ip Address With technical SEo

C. अब ये tool आपकी वेबसाइट को Bingbot की भांति क्रॉल करेगा और अगर ये आपको Status – 200 OK दिखा रहा है तो इसका मतलब ये कि आपकी वेबसाइट में कोई भी समस्या नहीं है लेकिन अगर आपको यहाँ पर 200 की बजाय कोई और Status स्कोर दिखाई देता है तो आप अपनी होस्टिंग कंपनी को कांटेक्ट करिये और उन्हें कहिये कि Bingbot के IP Address को वे अनब्लॉक करे ताकि आपकी वेबसाइट Index हो सके |

2. Keyword Stuffing

अगर आपकी वेबसाइट में Keyword Stuffing है तो Microsoft Bing आपकी वेबसाइट को Deindex कर सकता है | Keyword Stuffing लोग काफी अलग -अलग कारणों से करते है जैसे – कुछ लोग जो SEO में अभी नये है वे किसी के कहने पर ऐसा कर देते है और कुछ लोग Black hat ट्रिक के धोखे में अपनी वेबसाइट में काफी सारे Keywords को Stuff कर देते है | 10-15 साल पहले ये ट्रिक काम भी कर जाती थी लेकिन आज की तारीख में Keyword Stuffing से कोई फायदा नहीं होता है, Google ऐसे कंटेंट को नज़रअंदाज कर देता है और Bing डी इंडेक्स कर देता है |

अब इसे चेक करने के लिए आप अपने कंटेंट को ध्यान से देखिये और जहाँ पर भी आपने Keyword Stuffing की हुई है या आपको लगती है उन्हें हटाइये जिससे आपकी ये समस्या दूर हो जाएगी |

3. Duplicate Content

Google जहाँ डुप्लीकेट कन्टेन्ट के लिए कोई भी पेनल्टी अब नहीं देता है, वही Bing आपकी वेबसाइट को Deindex कर सकता है | मान लीजिये अगर आप किसी और वेबसाइट का कंटेंट या आर्टिकल अपनी वेबसाइट में कॉपी कर रहे है तो Bing आपकी वेबसाइट को Deindex कर सकता है | अब ये तो शायद आपको बताने की जरुरत नहीं है कि अपनी वेबसाइट में डुप्लीकेट कन्टेन्ट को कैसे ढूँढना है क्यूंकि ये तो आपको पता ही होगा |

बस आपको अपनी वेबसाइट से उन आर्टिकल्स और Pages को हटाना होगा जिनमे कॉपी कंटेंट है और आपकी वेबसाइट Bing में indexed हो जाएगी |

अपनी वेबसाइट में Duplicate Content को कैसे ढूंढे ?

4. No Canonicals Tags

Canonicals  भी एक प्रकार का डुप्लीकेट कन्टेन्ट Issue ही है, अगर आपकी वेबसाइट में जरा भी कंटेंट किसी और वेबसाइट से कॉपी नहीं किया गया है फिर भी आपकी वेबसाइट में आंतरिक डुप्लीकेट कन्टेन्ट Issue का Error आ सकता है |

पहला कारण तो ये होता है कि आप अपनी वेबसाइट में किसी भी कारण से एक पेज के content को काफी सारे Pages में इस्तेमाल करते है, जिसे Bingbot डुप्लीकेट कन्टेन्ट की भांति देखता है | कई बार आपकी वेबसाइट में किसी एक पेज को कई सारे URLs से देखा जा सकता है, जैसा आपको नोचे दिखाया गया है –

Google vs Bing SEO
Google vs Bing SEO

Search Engines के लिए ये सारे Pages अलग-अलग है और ऐसे मुद्दों को हम Canonicals Tags की मदद से ठीक कर सकते है | Canonicals Tags सर्च इंजन को बताते है कि इतने सारे Pages में समान कंटेंट जरुर है लेकिन आपको इंडेक्स सिर्फ एक कैनोनिकल पेज को ही करना है | इसलिए अगर आपकी वेबसाइट में Canonicals Tags को सही तरह से इस्तेमाल नहीं किया गया है तो इन्हें लगाए |

अगर आपको नहीं पता है कि Canonicals Tags क्या है और इन्हें इस्तेमाल किया जाता है तो इसके लिए आप Google या YouTube में सर्च कर सकते है जहाँ पर आपको इसके बारे में जानकारी मिल जाएगी और फिर आप इन्हें जरुर इस्तेमाल करे|

ये Issue भी एक टाइम में Google के साथ हुआ करता था लेकिन अब नहीं होता है | Google ने धीरे-धीरे खराब Backlinks को पहचान कर उन्हें नज़र अंदाज़ करना शुरू कर दिया है लेकिन Bing अभी भी खराब Backlinks को देखकर वेबसाइट को Deindex कर देता है | कमेंट्स, प्रोफाइल और सिग्नेचर टाइप की Backlinks जिन्हें लोग थोक के भाव में बनाते है, उन्हें देखकर Bing आप्किक वेबसाइट को Deindex कर सकता है |

Backlinks के बारे में एक चीज वैसे भी सबको समझनी चाहिए, कि जिन कॉमन websites पर हर कोई बैकलिंक बना सकता है उन्हें देखकर Google क्यों प्रभावित होगा, इम्प्रैशन अच्छी चीज से पड़ता है | अगर आपकी वेबसाइट इन खराब Backlinks से भरी हुई है तो उन्हें हटाइये और आपकी समस्या हल हो जाएगी |

6. Copied Affiliate Sites

ऐसी webistes जो प्रोडक्ट Pages के content को ज्यों का त्यों अपने आर्टिकल्स में डालती है, जिनका इकलौता मतलब ईमेल मार्केटिंग, या  किसी और तरीके से ट्रैफिक को अपनी और खींचकर सेल्स जैनरेट करना होता है | ये धारणा Microsoft Bing को पसंद नहीं आती है जिससे ये ऐसी साइट्स को Deindex कर देता है |

इस मामले में आपको अपने Affiliate Business को बंद करने की जरुरत नहीं है लेकिन आपको अपनी वेबसाइट के content को जरुर यूनिक बनाना होगा | आप Affiliate Business जरुर करिए लेकिन अपने कंटेंट को उपयोगी और यूनिक रखिए, जिससे Search Engines को भी आपकी वेबसाइट को इंडेक्स करने में कोई फायदा मिले |

7. Doorway Pages

कई Websites में लोग बहुत सारे ऐसे Pages बना लेते है, जो अलग -अलग Cities और Keywords को टारगेट करने के लिए बनाये जाते है | विशेष रूप से इन Pages में 95% कंटेंट समान होता है, सिर्फ सिटी का नाम और सर्वर्स का नाम बदला हुआ होता है | इन Pages का टारगेट अलग-अलग Cities से आने वाले ट्रैफिक को आकर्षित करना होता है |

Search Engines के हिसाब से ऐसे पेज, खराब गुणवत्ता और डुप्लीकेट कंटेंट की भांति होते है, और Bing ऐसे pages के लिए वेबसाइट को Deindex कर सकता है | इसका समाधान ये है कि या तो आप अपने सारे Pages में कंटेंट को यूनिक रखिए या फिर इन Doorway Pages को अपनी वेबसाइट से हटा दीजिये | 


➲ friends, ये थे वे Top 7 Reasons जिनकी वजह से माइक्रोसॉफ्ट बिंग आपकी वेबसाइट को Deindex कर सकते है | इसी के साथ मैंने आपको इन सभी समस्याओ का समाधान भी साथ-साथ बता दिया है| आप अपनी वेबसाइट में इन Issues को हल कीजिए और अपनी वेबसाइट को Bing में वापिस लाइए |

अगर आपको ये इनफार्मेशन Valuable लगे तो Share और Comment करना मत भूलियेगा।

अगर आप Blog या Blog से रिलेटेड और अधिक जानकारी लेना चाहते हो तो, आप हमारी साइट को visit कर सकते हो। जहाँ पर आपको Blog और Affiliate Marketing से सम्बंद्दित Useful और कुछ Important ट्रिक्स देखंने और पढ़ने को मिलेगी |

If you found this content informative then share it.             
Categories SEO

नमस्कार दोस्तों, मैं Mahakal-Blog का फाउंडर हु | ब्लॉग्गिंग करना मेरा प्रोफेशन है और मेरी रूचि, नई-नई चीजो के बारे में जानकारी अर्जित करना और उसे ब्लॉग्गिंग के मध्यम से लोगो के साथ शेयर करने में है | इस ब्लॉग को बनाने के पीछे हमारा मकसद यह है कि हम आपको ब्लॉग्गिंग और डिजिटल मार्केटिंग से सम्बंधित महत्वपूर्ण जानकारी एकदम सरल भाषा हिंदी में उपलब्ध करवा सके !

Share For Support:

Leave a Comment