What is EAT in SEO ? Google EAT Score क्या है -हिंदी में

 दोस्तों अगर आप भी अपनी वेबसाइट के लिए SEO करते है या अगर आप भी SEO के बारे में पढ़ते है तो आपने हाल के महीने में EAT in SEO या E.A.T के बारे में जरुर सुना होगा | कुछ लोगो का कहना है कि E.A.T एक रैंकिंग फैक्टर है और कुछ लोग इसे रैंकिंग फैक्टर नहीं बताते है और Google इसके लिए हमेशा की तरह घुमा-फिरकर जवाब देता है |

फ्रेंड्स, आज के इस आर्टिकल में हम EAT in SEO के बारे में विस्तार से चर्चा करेंगे कि-

  • E.A.T क्या है
  • E.A.T किस प्रकार की websites के लिए जरुरी है
  • क्या E.A.T एक रैंकिंग फैक्टर है या नहीं
  • अपना E.A.T स्कोर बढ़ाने के लिए हमे क्या करना चाहिए?

अब चूँकि मैंने websites का जिक्र किया है तो जाहिर है कि ये बिज़नस वेबसाइट और Blogs दोनों प्रकार की websites के लिए जरुरी है | आईये अब विस्तार से जानते है –

What is EAT in SEO:

दोस्तों जैसे कि आपको भी पता होगा कि EAT एक शोर्ट फॉर्म है जिसका अर्थ है Expertise Authoritativeness Trustworthiness. गूगल हर वेबसाइट को एक EAT Score देता है जो हर वेबसाइट को तीन फैक्टर्स पर टेस्ट करके ही दिया जाता है –

1. Expertise – इसका अर्थ ये है कि वेबसाइट या वेबसाइट पर कंटेंट लिखने वाला अपने फील्ड में कितना एक्सपर्ट है|

2. Authoritativeness – इससे तात्पर्य है कि वेबसाइट या वेबसाइट के मालिक की अपनी फील्ड में कितनी पकड़ है यानि कि कितने लोग उसकी बात मानते है|

3. Trustworthiness – इसका अर्थ है कि वो वेबसाइट कितनी भरोसेमंद है |

मैं जनता हु कि ये तीनो फैक्टर्स आपस में काफी मिलते-जुलते लगते है लेकिन इन तीनो का अपना-अपना काम होता है और इनके अलग-अलग तरीके होते है | ➧ आईये अब जानते है कि ये E.A.T आया कहाँ से है|

➥ Google एक टेक्नोलॉजी कम्पनी है जो अपनी Artificial Intelligence और Machine Learningपर काफी ज्यादा निवेश कर रही है लेकिन इन्सान का दिमाग अभी भी सबसे ज्यादा हाई क्वालिटी रिजल्ट्स दे सकता है | Google पूरी दुनिया में हजारो की संख्या में Quality Raters को भर्ती करता है | इन Quality Raters को गूगल सर्च टीम Keywords की एक सूचि देती है जिन्हें ये Quality Raters गूगल पर जाकर सर्च करते है और ये देखते है कि जो सर्च रिजल्ट्स आ रहे है – क्या वे हाई क्वालिटी है और फिर बाद में ये  Quality Raters गूगल सर्च टीम को अपना फीडबैक देते है | अब ये Quality Raters जिस Document का अनुसरण करते है उसे Quality Raters Guidelines कहते है|

अब ये तो निश्चित है कि E.A.T सर्च रैंकिंग में काफी ज्यादा जरुरी है और Google लगातार इस E.A.T स्कोर के आधार पर Websites को टेस्ट करता रहता है | अब आप में से कुछ लोगो के मन में ये सवाल उठ रहा होगा कि क्या E.A.T सच में एक रैंकिंग फैक्टर है ?

ये बात तो पक्की है कि Quality Raters Guidelines पूरी तरह से Google के रैंकिंग फैक्टर्स नहीं होते है बल्कि ये Google के एक तरह से फ्यूचर गोल्स होते है | जैसे हम भी अपने लिए कुछ फ्यूचर गोल्स बनाते है उसी प्रकार Google भी अपने फ्यूचर गोल्स को Quality Raters Guidelines में सेट करता है |

गूगल Quality Raters से सर्च रिजल्ट्स की जाँच करवाता है इसके बाद गूगल अपनी अल्गोरिथम को इसके अनुकूल करता है ताकि वो Automatically इस तरह के सर्च रिजल्ट्स को उत्पन्न कर सके| इसके आधार पर आप और हम ये कह सकते है कि Quality Raters ना सिर्फ सर्च रिजल्ट्स की गुणवता की जाँच करने का काम करते है बल्कि वे गूगल की अल्गोरिथम के लिए रोल मॉडल का काम भी करते है |

इसलिए EAT in SEO अभी Websites के लिए जितना उपयोगी है उससे कई गुना ज्यादा उपयोगी आगे भविष्य में और हो जायेगा इसलिए अगर आप इस पर अपना फोकस नहीं कर रहे है तो इसके उपर आपको अभी से अपना ध्यान केन्द्रित करने की जरुरत है|

  1. 13 Ways to Increase Website Traffic
  2. How Write Perfect Title in Articles 

➧ आईये अब जानते है कि क्या –

क्या EAT हर प्रकार की Websites के लिए लागू होता है?

दोस्तों इस सवाल का जवाब थोडा सा गोल-मोल सा प्रतीत होने वाला है| YMYL पेज यानि कि ऐसे वेब पेज और वेबसाइट जो Your Money Your Life फील्ड से सम्बंधित है उन पर E.A.T Score का असर सबसे ज्यादा होता है | गूगल की Quality Raters Guidelines का कहना है कि जिन YMYL Pages का E.A.T Score कम है, उन्हें कम रैंकिंग प्रदान की जानी चाहिए|

Your Money or Your Life YMYL Pages EAT Score Guideline

YMYL कीकेटेगरी में मेडिकल,फाइनेंस,लॉयर और इन्शुरन्स जैसी श्रेणी आती है और इसके साथ मेंटल हेल्थ, डाइट जैसी श्रेणी भी YMYL के अंदर सम्मिलित की जाती है| लेकिन इन YMYL Pagesके आलावा सामान्य websites भी इस EAT Score से प्रभावित होती है | मैं आपको बताना चाहूँगा कि सन 2019 में Google ने एक गाइड पब्लिश की थी ऐसे वेबमास्टर्स के लिए जिनकी वेबसाइट Google Core अपडेट से प्रभावित हुई है और उसमे गूगल ने ये सुझाव दिया था कि अगर आपकी वेबसाइट Core अपडेट के बाद खराब परफॉर्म कर रही है तो आपको EAT स्कोर पर ध्यान देना चाहिए | दोस्तों ये फैक्ट ही EAT Score की अहमियत बताने के लिए बहुत है |

Google EAT Score Policy Update

➧ दोस्तों अब अंतिम सवाल पर चर्चा करते है कि-

EAT Score को कैसे बढ़ाया जाये ?

अपने EAT Score को बढ़ाने के लिए आपको सबसे पहले अपनी वेबसाइट में Author Profile को Create करना है | अब आपका चाहे कोई ब्लॉग हो या कोई बिज़नस वेबसाइट, Author Profile आपको जरुर बनानी है | एक गलती जो ज्यादातर Websites के अन्दर देखने को मिलती है वो ये है कि आर्टिकल्स में writer का कोई प्रोफाइल नहीं होता है कि ये आर्टिकल किसने लिखा है, क्यों लिखा है और उसका इस आर्टिकल को लिखने के पीछे क्या मकसद है? ये सारी जानकारी आपके यूजर के लिए जानना जरुरी होता है |

EAT में Expertise इस कंटेंट लिखने वाले राइटर की होती है और Authoritativeness कंटेंट और राइटर दोनों की होती है और Trustworthiness भी वेबसाइट और राइटर दोनों का ही होता है| EAT Score को बढ़ाने के लिए हम अपने आर्टिकल्स में एक ऑथर सेक्शन बनाते है और उसके अन्दर writer के बारे में ज्यादा से ज्यादा जानकारी देते है जैसे Writer की सोशल मीडिया प्रोफाइल्स, उसका नाम, उसके अवार्ड्स और विकिपीडिया पेज का लिंक | अगर आपकी वेबसाइट किसी लॉयर से सम्बंधित है तो आप वहां पर उनके Licenses की डिटेल्स को लिंक कर सकते है या जो भी ऐसा लिंक जो ये साबित करता हो कि ये राइटर वास्तव में प्रोफेशनल है|

अगर आपका कोई ब्लॉग है तो आप Author या Writer सेक्शन में अपने बारे में ही इनफार्मेशन दे सकते है और लिनक्स में अपने पर्सनल सोशल मीडिया Accounts के लिंक दे सकते है | आपका लक्ष्य सिर्फ अपनी इनफार्मेशन और Personalty को वेरीफाई करवाना है | इसके आलावा आप अपनी वेबसाइट पर UG यानि की User Generated कंटेंट का इस्तेमाल करे | आप अपनी वेबसाइट पर उच्च गुणवत्ता वाले आर्टिकल्स पोस्ट करे |

जितने ज्यादा लोग आपके कंटेंट को पढ़ते है, उस पर इंटरैक्ट करते है और कमेंट्स करते है, उतनी ही ज्यादा आपके पेज की अथॉरिटी बनती है | आपकी इंडस्ट्री या आपकी Niche से सम्बंधित Websites पर आपकी वेबसाइट के बारे में दिया गया Review या Author प्रोफाइल आपके विश्वास प्रवाह को बढाता है जो कि आपकी वेबसाइट के EAT Score के लिए बढिया रहता है |

Guest Post:

दोस्तों, Guest Post के बारे में आप जानते ही है | गेस्ट पोस्ट करते वक्त आप सिर्फ Backlink पर ध्यान मत कीजिये बल्कि अपनी ऑथर प्रोफाइल भी बनवाये, जिसमे आपके सारे सोशल मीडिया लिनक्स और आपका परिचय शामिल हो | अपनी वेबसाइट पर कंटेंट की क्वालिटी पर विशेष ध्यान दीजिये क्यूंकि Negative Review और गलत कंटेंट आपकी वेबसाइट के विश्वास को कम करता है, जिसके कारण आपका EAT in SEO या EAT स्कोर भी प्रभावित हो जाता है |

अत: आप अपनी वेबसाइट के EAT Score पर ध्यान दीजिये खासकर जब, अगर आपकी या आपके क्लाइंट की वेबसाइट मेडिकल, स्कूल, फाइनेंस, मेंटल हेल्थ और lawyers से रिलेटेड हो  | साथ ही ब्रांड्स और Companies के लिए भी ये दिन-प्रतिदिन महत्वपूर्ण होता जा रहा है इसलिए आप इस पर अपना ध्यान जरुर दे |

उम्मीद है आप इस आर्टिकल की सहायता से Google के इस नये EAT Score के बारे में विस्तार से जान पाए होंगे| वैसे तो गूगल के हर अपडेट इम्पोर्टेन्ट होते है लेकिन EAT In SEO की अपनी एक अलग पहचान है इसलिए इस पर आपको ध्यान देना चाहिए |अगर आपको ये इनफार्मेशन उपयोगी और लाभदायक लगे तो इसे शेयर करना ना भूले और अगर आपका कोई सवाल या सुझाव है तो निचे Comment कीजिये।
Categories SEO

नमस्कार दोस्तों, मैं Mahakal-Blog का फाउंडर हु | ब्लॉग्गिंग करना मेरा प्रोफेशन है और मेरी रूचि, नई-नई चीजो के बारे में जानकारी अर्जित करना और उसे ब्लॉग्गिंग के मध्यम से लोगो के साथ शेयर करने में है | इस ब्लॉग को बनाने के पीछे हमारा मकसद यह है कि हम आपको ब्लॉग्गिंग और डिजिटल मार्केटिंग से सम्बंधित महत्वपूर्ण जानकारी एकदम सरल भाषा हिंदी में उपलब्ध करवा सके !

Share For Support:

Leave a Comment