Google New Artificial Intelligence Work – Google SpamBrain

पिछले 4 -5 सालो से Website Owners और Bloggers की Indexing Complaints लगातार बढती ही जा रही थी | Discovered Currently Not Indexed हो या Crawled Currently Not Indexed इन दोनों समस्याओ का पहाड़ लगातार बढता ही जा रहा था | अगर देखा जाये तो इसे Google के किसी Artificial Intelligence Work  के बिना सुलझाया भी नहीं जा सकता था |

इसके पीछे जो कारण है, उनके हिंट और संकेत मार्किट में काफी समय से मौजूद थे | इसके असर को सभी Bloggers पिछली कुछ Updates में महसूस कर चुके है लेकिन इस Artificial Intelligence Work का जो नाम और काम है, वो अब सभी के सामने Google ने पेश किया है | इसका नाम – Google SpamBrain  है |

Artificial Intelligence Work- Google SpamBrain :

Artificial Intelligence Work Google SpamBrain
Google SpamBrain

आज के इस आर्टिकल में हम जानेंगे कि –

  • Google का ये नया सिस्टम Google SpamBrain क्या है ?
  • Google SpamBrain कैसे काम करता है ?
  • Google SpamBrain किस तरह की Websites को हिट करता है  और
  • इससे हम कैसे सुरक्षित रह सकते है ?

जो कोई भी पेशे से Blogger है उन सभी को Google की इस New Update के बारे में बारीकी से जरुर देखना चाहिए क्यूंकि इस पूरी अपडेट में सभी Website Owners से सम्बंधित जानकरी ही दी गयी है जिसका सीधा सम्बन्ध आपकी अपनी वेबसाइट से है | अब बिना किसी देरी के गूगल के इस Artificial Intelligence Work पर आधारित Google SpamBrain  के बारे में बारीकी से जानते है –

What is Google SpamBrain ?

21 April 2022 को गूगल ने 2021 की Webspam Report पब्लिश की थी। 2016 से गूगल हर साल Spam Fighting System रिपोर्ट पब्लिश करता है, जिसमे वे पिछले एक साल का डाटा दिखाते है। कुछ experts का कहना है कि Google ने इसे 2016 से ही पब्लिश करना शुरू किया था। वैसे तो गूगल ने 2016  से Webspam Report को पब्लिश करना स्टार्ट किया था लेकिन इससे पहले भी गूगल Search Spam को लेकर काफी serious था।

पुराने SEO’s को ये नाम Matt Cutts जरूर याद होगा और अगर आप इस फील्ड में नए है तो आपको इस नाम के बारे में पढ़ना चाहिए। Matt Cutts, Webspam टीम के हेड हुआ करते थे लेकिन इंटरनेट के साइज के सामने गूगल के Manual Efforts टिक नहीं पाए।

इसलिए गूगल ने 2018 को ही Artificial Intelligence Work पर आधारित Google SpamBrain नामक सिस्टम को लांच किया था। SpamBrain एक AI (Artificial Intelligence) सिस्टम पर Base प्रक्रिया है, जो कई तरह की Spam को Google Search में आने से रोकता है जैसे –

What does SpamBrain Do?

A. Link Spam – जो कोई भी Low Quality Backlinks  के जरिये सर्च रिजल्ट्स को हेरफेर करना चाहता है, ये उस पर रोक लगाता है |

B. Phishing Spam – जो कोई भी Normal User की इनफार्मेशन को चुराने की कोशिश करता है, ये उस पर भी रोक लगाता है |

C. Hacked Content Spam – जो हैकर, Random Websites को हैक करके उसके अन्दर अपना कंटेंट डाल देते है, ये इसे भी रोकता है |

D. Gibberish Content Spam – जिसके Hosted प्लेटफार्म पर फालतू का कंटेंट होता है, ये उसे भी Spam Content की तरह ही Treat करता है |

E. Online Harassment – इसके अन्दर वो कंटेंट आता है जो किसी खास Group, Person या Race को टारगेट करके लिखा जाता है |

F. Low Quality Content – जिसमे कंटेंट में यूजर को सही Choice करने से रोका जाता है, ये उसे भी एक Spammy कंटेंट मानता है |

इन सभी तरह के कंटेंट पर ये Artificial Intelligence Work पर आधारित Google SpamBrain काम करता है लेकिन ये सिर्फ इन्ही तक सिमित नहीं है | Artificial Intelligence पर Based होने के कारण SpamBrain खुद को किसी नये तरह के Spam को Detect करने और उसे रोकने के लिए Trained कर सकता है | इसका सीधा सा मतलब ये है कि भविष्य में Search Results में जो भी नये तरह का स्पैम दिखाई देगा, उसे Google SpamBrain पकड़ने की कोशिश करेगा |

अगर आप ये जानना चाहते है कि Google SpamBrain की जरुरत क्यों पड़ती है, तो इसे समझने के लिए एक ही Figure काफी है कि 2015 में Google ने Webmasters को 4.3 लाख Manual Action Message भेजे थे| अब आप ये अंदाज़ा लगा सकते है किसी भी टाइप के एक्शन को 4.3 लाख बार करना कोई आसान काम नहीं है |

इसी के चलते गूगल 2019 तक हर रोज लगभग 2.5 हजार करोड़ Spam Pages को पकड़ने लगा | अब आप सोच सकते है कि 2.5 हजार करोड़ कितना बड़ा नंबर है और उस वक्त ये आंकड़ा काफी हैरानी वाला भी लगता था लेकिन अब हम Google SpamBrain सिस्टम के बारे में जान चुके है, इसलिए अब हमारे लिए ये समझना आसान हो गया है कि यही वो सिस्टम था जो उस वक्त इतने बड़े पैमाने पर Spam Pages को पकड़ रहा था, जो कि पहले संभव भी नहीं था|

Content Indexing Problem :

उपर बताई गयी टेक्नोलॉजी के कारण ही  Indexing Problems का Reason सामने आना शुरू हो जाता है | शुरूआती Bloggers और छोटी Websites के Owners आज–कल इस Indexing वाली समस्या का काफी ज्यादा सामना करते है क्यूंकि गूगल Spam के उपर सिर्फ Strict ही नहीं है बल्कि वो Artificial Intelligence Work के जरिये कंटेंट को बारीकी से पड़कर उसे समझने की कोशिश भी कर रहा है और ये Judge कर रहा है कि क्या ये कंटेंट यूनिक, Useful और हाई क्वालिटी है |

इसलिए आज के दौर में Copy-Paste वाला कंटेंट तो वैसे भी इंडेक्स होने से रहा और अगर गलती से ऐसा कंटेंट इंडेक्स हो भी जाता है तो उसे कुछ ही दिनों में दोबारा De-Index कर दिया जाता है |

आप अपने जिस कंटेंट को यूनिक समझते है, क्या वो गूगल की नज़र में भी एक यूनिक कंटेंट है ? मान लीजिये आपने अपनी वेबसाइट पर कोई एक यूनिक कंटेंट खुद से लिखा है लेकिन फिर भी आप Confuse है कि आपका ये कंटेंट Index क्यों नहीं हो रहा है? ऐसे में आपको ये देखने की जरुरत है कि आपके द्वारा लिखा गया कंटेंट वास्तव में यूनिक है या आपने किसी और के कंटेंट को पड़कर उसे अपने शब्दों में लिख डाला है क्यूंकि AI System दोनों आर्टिकल्स को पढ़कर ये समझ सकता है कि इन दोनों आर्टिकल्स का मतलब एक जैसा ही है |

हमेशा ध्यान रखिये कि Uniqueness, High Quality और Useful होने की गारंटी नहीं होती है | इसलिए अगर आपके आर्टिकल्स Index नहीं हो रहे है तो आपको अपनी वेबसाइट और अपने कंटेंट को ध्यान से देखने कि आवश्यकता है और इसी के साथ यह भी सुनिश्चित करे कि वे Plagiarized Free है या नहीं |

Artificial Intelligence Work Google SpamBrain
Artificial Intelligence Work

इसका मैं आपको एक बढिया सा उदहारण देता हु | SpamBrain के उपर Search Engine Land ने भी कंटेंट पब्लिश किया था | अगर आप इस आर्टिकल को Copyscape Checker पर जाकर टेस्ट करेंगे तो आप देखेंगे की इस आर्टिकल का  87 % पार्ट Copied है |

Search Engine Land  वेबसाइट के उपर काफी सारे ऐसे आर्टिकल्स मौजूद है जो सिर्फ Google या बाकि सारे Official Sources के टेक्स्ट को उपर निचे करके और उनको Arrange करके लिखे जाते है | लेकिन आप फिर भी देखेंगे की इनके आर्टिकल इंडेक्स होते रहते है और इनको किसी प्रकार का कोई Indexing Problem नहीं हो रहा है|

जरा सोचिये की Search Engine Land वेबसाइट के आर्टिकल्स 87 % Copied है और गूगल के Artificial Intelligence Work के होते हुए भी इन्हें Indexing का Issue क्यों नहीं आता है ? इस सवाल का जवाब है – सम्पूर्ण साईट की क्वालिटी |

कुछ आर्टिकल्स में Search Engine Land या दुसरे Blogs भले ही Source को ही पूरा चेप लेते हो लेकिन इसके आलावा भी काफी सारा कंटेंट Usefull होता है  जैसे – बहुत सारा  Analytical Content होता है, Questions/Answers होते है और टेक्निकल Step By Step आर्टिकल्स भी होते है | इनका पूरा ब्लॉग सिर्फ Google Announcement से ही भरा हुआ नहीं होता है बल्कि इनके आर्टिकल्स में बहुत कुछ सिखने को भी मिलता है |

जिन ब्लोग्स में Google या बाकि सारे Sources का कंटेंट use किया जाता है, उसमे भी ये अतिरिक्त Value को Add करते है | इसी के साथ ये अपनी websites में Why We Care  टाइप के Sections को ऐड करते है जो Announcement के संबंधता को बताते है जो कि इस अधिकतर Copied किये हुए कंटेंट को भी Useful बना देता है |

इस Strategy को आप भी अपनी उन websites या Blogs में इस्तेमाल कर सकते है जिसमे काफी सारा कंटेंट दूसरी Websites से मिलता-जुलता है | गूगल Individual Pages को इंडेक्स भी करता है और उन्हें रैंक भी करता है लेकिन इसमें एक वेबसाइट की सम्पूर्ण क्वालिटी भी मेटर करती है | अब जैसा कि आपको पता है कि आपकी वेबसाइट की क्वालिटी कोई इन्सान या Manual Algorithm नहीं बल्कि Google SpamBrain नाम का AI Based System तय कर रहा है | इसलिए आपको पहले से ज्यादा सावधान रहने की आवश्यकता है |

ध्यान रहे कि सिर्फ यूनिक होना काफी नहीं है, आपको Useful भी होना पड़ेगा | Google SpamBrain Update के पेज पर ही गूगल ने Product Review Update को भी Mention किया है। यहाँ पर ध्यान देने वाली बात ये है कि गूगल ने अपने Product Review Update पेज पर कही पर भी SpamBrain Update को Mention नहीं किया है लेकिन इस पेज पर Google ये अनुमान लगा रहा है कि Low Quality कंटेंट भी Ranking को हेर-फेर कर सकता है इसलिए वो भी Spam Category में आता है।

इसलिए अगर आपका कंटेंट Low Quality है तो भी आपका कंटेंट SpamBrain  का शिकार हो सकता है। इसलिए इससे बचने के लिए ये जरुरी है कि आप अपने कंटेंट की क्वालिटी पर ज़्यादा ध्यान दे और अपनी वेबसाइट को SpamBrain से बचाये।

निष्कर्ष :

अपनी वेबसाइट को हाई रैंकिंग दिलाने के लिए आप अपनी वेबसाइट या ब्लॉग को गूगल द्वारा treat किये जाने से बचाये अनयथा आने वाले समय में कही आपकी वेबसाइट अपनी रैंकिंग ना खो दे।अगर आप ऊपर बताये गए सभी स्टेप्स का सही ढंग से अनुसरण करते है तो आप काफी तक अपनी वेबसाइट को Google SpamBrain सिस्टम का शिकार होने से बचा सकते है।

Google  अपनी टेक्नोलॉजी को Artificial Intelligence Work के साथ पहले से काफी ज़्यादा Improve कर चूका है और यह प्रक्रिया लगातार बढ़ती ही जाएगी। इसलिए अगर आप अपनी वेबसाइट को गूगल के झटको से बचाना चाहते है तो आप अपनी वेबसाइट की क्वालिटी पर ध्यान दे। अगर आपकी वेबसाइट के आर्टिकल्स अच्छे से इंडेक्स नहीं हो रहे है या Indexing के कुछ दिनों बाद उसे फिर से De-Index कर दिया जाता है तो हो सकता है आपकी वेबसाइट  Google SpamBrain सिस्टम का शिकार हो गयी हो | इससे निपटने के लिए आप उपर बताये गए बिन्दुओ का पालन करे |

अगर आपका Google की इस Update के बारे में कोई सवाल या इससे सम्बंधित कोई सुझाव है, जिसे हम अपने इस आर्टिकल में नहीं जोड़ पाए है, तो उसे हमारे साथ कमेंट सेक्शन के माध्यम से जरुर साँझा करे |

FAQ :

  1. Google को स्पैम से निपटने की क्यों जरुरत है ?

    कई प्रकार की स्पैम Websites गलत तरीको को अपनाकर सर्च रिजल्ट्स में टॉप पोजीशन पर रैंक करना चाहती है | इसके लिए वे अपने कंटेंट में Keyword Stuffing जैसे कई गलत तकनीको का इस्तेमाल करती है , जिससे यूजर को अपने काम का कंटेंट नहीं मिल पाता है | हैकर कई बार सही websites को Spam Websites में बदल देते है | ऐसी ही अनेको गलत गतिविधियों पर विराम लगाने के लिए ही Google स्पैम के प्रति इतना ज्यादा Strict हो गया है | गूगल ने अपनी खुद की रिपोट में बताया है कि गूगल को साल 2020 में ही हर दिन लगभग 40 अरब Spam Pages मिले |

  2. क्या Google के पास स्पैम है?

    Google दुनिया का सबसे बड़ा और सबसे ज्यादा Use किये जाने वाला सर्च इंजन है, इसलिए इससे ये तो तय है कि Google पर Spam भी भारी मात्रा में मौजूद होगा | अनेको Website Owners अपनी वेबसाइट को Search Result में टॉप पोजीशन पर लाने के लिए कई प्रकार के Spam का इस्तेमाल करती है जैसे Content Spam, Backlink Spam आदि| गूगल पहले इस स्पैम को Manually तरीको से रोकना चाहता था लेकिन ऐसा संभव ना हो सका और फिर Google ने Artificial Intelligence Work पर आधारित SpamBrain नाम के सिस्टम को लांच किया, जो अब काफी हद तक Spam को सर्च रिजल्ट्स से हटा रहा है |

  3. Google कैसे तय करता है कि स्पैम क्या है?

    Google के पास अनेको ऐसे ऑटोमेटेड सिस्टम है, जो Search Results में आने वाले Spam का पता लगा सकते है , ऐसा गूगल ने खुद कहा है और इन्ही ऑटोमेटेड सिस्टम में से ही एक Google SpamBrain सिस्टम है | किसी भी स्पैम का पता लगने पर गूगल उसे अपने  Artificial Intelligence Work की मदद से सर्च रिजल्ट्स से बाहर कर सकते है | बाकि के बचे हुए Spam से गूगल की टीम Manually निपटती है और जिस भी कंटेंट में स्पैम की सम्भावना होती है गूगल की टीम उस Website Owner को इसके बारे में आगाह करती है |

Categories SEO

नमस्कार दोस्तों, मैं Mahakal-Blog का फाउंडर हु | ब्लॉग्गिंग करना मेरा प्रोफेशन है और मेरी रूचि, नई-नई चीजो के बारे में जानकारी अर्जित करना और उसे ब्लॉग्गिंग के मध्यम से लोगो के साथ शेयर करने में है | इस ब्लॉग को बनाने के पीछे हमारा मकसद यह है कि हम आपको ब्लॉग्गिंग और डिजिटल मार्केटिंग से सम्बंधित महत्वपूर्ण जानकारी एकदम सरल भाषा हिंदी में उपलब्ध करवा सके !

Share For Support:

Leave a Comment